लोकतंत्र क्या है लोकतंत्र किसे कहते हैं

पूरी दुनिया में कई सारे लोकतांत्रिक देश हैं वैसे तो बहुत ही कम देश ऐसे हैं जो कि लोकतंत्र के बिना चलते हैं अधिक मात्रा में आपको लोकतांत्रिक देश ही इस दुनिया में देखने को मिलेंगे वही बात करें दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत और अमेरिका की तो भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है वहीं पर अमेरिका दुनिया का सबसे पुराना लोकतांत्रिक देश है

लोकतंत्र क्या है, लोकतंत्र किसे कहते हैं

लोकतंत्र क्या है

लोकतंत्र दो शब्दों से मिलकर बना है लोग+तंत्र इसमें लोक का अर्थ है लोग और तंत्र का अर्थ है शासन सरल शब्दों में लोकतंत्र का मतलब लोगों के लिए, लोग और लोगों के द्वारा किया जाने वाला शासन

लोकतंत्र का अर्थ

लोकतंत्र का अंग्रेजी में अर्थ डेमोक्रेसी ( Democracy ) है लोकतंत्र का सरल अर्थ है जनता का शासन अथवा एक ऐसी शासन प्रणाली जिसमें सर्वोच्च सत्ता जनता के पास ही हो जहां लोगों की सरकार से अभिप्राय प्रत्यक्ष प्रजातंत्र है सरकार लोगों पर शासन करती है सरकार लोगों की ही है सरकार लोगों द्वारा निर्वाचित और निर्देशित होती है सरकार आम जनता से ही बनती है तथा सरकार लोगों के प्रति जिम्मेदार है और लोगों के हितों की रक्षा के लिए है

लोकतंत्र किसे कहते हैं

लोकतंत्र उस सरकार को कहते हैं जिससे प्रत्येक व्यक्ति भाग लेता है इसमें जनता प्रत्यक्ष रूप से अपने निर्वाचित प्रतिनिधियों के द्वारा अप्रत्यक्ष रूप से शासन करती है

सरल शब्दों में अगर आपको बताएं तो लोकतंत्र में जनता अपने निर्वाचित प्रतिनिधि को चुनने के लिए स्वतंत्र होती है जिसे वह चुनती है वही लोकतंत्र में शासन करता है यानी अप्रत्यक्ष रूप से जनता ही शासन करती है

लोकतंत्र की परिभाषा

प्रजातंत्र के प्राचीन तीन अर्थ माने तो : बौद्धिक दृष्टि से प्रजातंत्र का अर्थ है ” समानता ” वही संवैधानिक दृष्टि से प्रजातंत्र का अर्थ है ” बहुमत का शासन “ और सामाजिक दृष्टि से प्रजातंत्र का मतलब है “आम जनता द्वारा शासन “

ब्राइस के अनुसार : प्रजा तंत्र का अभिप्राय सरकार के ऐसे स्वरूप से है जिसमें शासन का अर्थ है “आम जनता का शासन” जो कि सर्वोच्च है

सीले के अनुसार : ” प्रजातंत्र से अभिप्राय ऐसी सरकार से है जिसमें प्रत्येक व्यक्ति हिस्सा ले सकें ” सरल शब्दों में अधिक से अधिक जनसंख्या लोकतंत्र में भाग ले सकें

हॉल के अनुसार : ” प्रजातंत्र से अभिप्राय ऐसी सरकार से है जिसमें जनमत का नियंत्रण हो ” सरल शब्दों में इसमें जनता का नियंत्रण हो

लोकतंत्र के गुण और विशेषताएं

  • प्रजातंत्र का अर्थ प्रजातंत्र का सामान्य अर्थ उस राज्य अथवा सरकार से है जिसमें शासन की अंतिम सप्ताह लोगों के हाथ में होती है जिसमें चुनाव के आधार पर सार्वभौमिक वयस्क मताधिकार होता है
  • लोकतांत्रिक व्यवस्था समानता के अधिकार पर आधारित होती है अधिकारों के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए स्वतंत्र न्यायपालिका की व्यवस्था होती है
  • प्रजातंत्र में प्रत्येक नवयुवक और नव युवती को एक निश्चित आयु के बाद मत देने का अधिकार होता है यह आयु 18 साल की होती है 18 साल पूर्ण होने पर युवक या युवती मत दे सकते हैं
  • समाचार पत्रों को सरकार की नीतियां उनकी कमियां तथा अच्छाइयां बताने का पूरा अधिकार होता है वह स्वतंत्र होते हैं इस प्रकार समाचार पत्र जनता और सरकार के बीच कड़ी का काम करते है
  • लोकतंत्र में निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव की व्यवस्था रहती है इस चुनाव की देखरेख की जिम्मेदारी चुनाव आयोग की होती है

लोकतंत्र कितने प्रकार का होता है

सामान्य शब्दों में लोकतंत्र जिसको अंग्रेजी में डेमोक्रेसी ( Democracy ) भी कहते हैं यह दो प्रकार की होती है

  • प्रत्यक्ष लोकतंत्र ( direct democracy )

प्रत्यक्ष लोकतंत्र एक ऐसी शासन व्यवस्था जिसमें कोई प्रतिनिधि नहीं होता जनता स्वयं से अपनी एक स्वतंत्र सरकार को चुनती है ऐसी ही शासन व्यवस्था को प्रत्यक्ष लोकतंत्र अथवा डायरेक्ट डेमोक्रेसी कहते हैं

प्रत्यक्ष लोकतंत्र का उदाहरण स्विजरलैंड है इस देश में अगर कोई कानून बनाना हो या संविधान में कोई संशोधन करना हो तो सरकार को वहां की जनता से समर्थन अथवा सहमति लेनी पड़ती है अगर जनता बहुमत में सहमति दे देती है तो वहां पर वह कानून अथवा संविधान बन जाता है या फिर बदल जाता है

  • अप्रत्यक्ष लोकतंत्र ( Indirect democracy )

अप्रत्यक्ष लोकतंत्र एक ऐसी शासन व्यवस्था है जिसमें जनता किसी प्रतिनिधि को अपने द्वारा चुनती है और वही प्रतिनिधि जो जनता द्वारा चुना गया है वहीं सरकार का चुनाव करता है

इसका सबसे सरल उदाहरण है कि जब हमें किसी राज्य के मुख्यमंत्री को चुनना होता है तो हम प्रत्यक्ष रूप से उस मुख्यमंत्री को वोट नहीं दे सकते इसके लिए हमें उस राज्य के विधायक को चुनना होता है और जिस दल के विधायक अर्थात जिस राजनीतिक दल के विधायक की संख्या अधिक होती है उसी दल का मुख्यमंत्री भी उस राज्य के लिए चुना जाता है

लोकतंत्र का निष्कर्ष

लोकतांत्रिक व्यवस्था अत्यंत उपयोगी तथा समयानुकूल है इसके अंतर्गत व्यक्ति के अधिकारों की रक्षा होती है तथा राज्य की निरंकुशता को रोकने के लिए स्वतंत्र एवं निष्पक्ष न्यायपालिका की व्यवस्था होती है

अतः जिस युग में हम रह रहे हैं उसे ही लोकतंत्र की व्यवस्था कहा जाता है जो कि दुनिया के लगभग सभी देशों में होता है कुछ देशों को अगर इसमें सम्मिलित ना करें तो ज्यादातर देश लोकतंत्र की बुनियाद पर चलते हैं

यह भी पढ़ें : TRP क्या होता है टीआरपी के बारे में पूरी जानकारी

Faq

विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश कौन सा है?

विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश भारत है.

विश्व का सबसे पुराना लोकतंत्र देश कौन सा है?

विश्व का सबसे पुराना लोकतांत्रिक देश ( संयुक्त राष्ट्र अमेरिका  ) अमेरिका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *