भारत की सबसे लंबी नदी शीर्ष 10

इस लेख में आपको यह पता चलेगा कि भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है इसका उद्गम स्थल कहां से कहां तक है | इस ब्लॉग में हमने शीर्ष 10 भारत की सबसे लंबी नदियों को कवर किया है और उसके बारे में जानकारी दी है | भारत को नदियों का देश भी कहा जाता है क्योंकि यहां सिंधु , ब्रह्मपुत्र , गंगा , गोदावरी और कृष्णा जैसी बड़ी और विशालकाय नदिया है | यह सारी विशालकाय नदियां भारत की आर्थिक  विकास में बड़ी भूमिका निभाती है एवं भारत में पीने योग्य जल की पूर्ति करती है |

भारत की सबसे लंबी नदी
भारत की सबसे लंबी नदी

भारत की शीर्ष 10 सबसे लंबी नदियों की सूची

नदियाँउद्गम स्थलकुल लंबाई
(कि.मी)
1. सिन्धु नदीसिन-का-बाब 2900
2. ब्रह्मपुत्र नदीचेमायुंग दुंग 2900
3. गंगा नदीगंगोत्री हिमनद2,525 
4. गोदावरी नदीत्रयंबक पहाड़ी1,465
5. कृष्णा नदीमहाबलेश्वर 1,400
6. यमुना नदीबन्दरपूँछ चोटी1,376
7. नर्मदा नदीनर्मदा कुंड अमरकंटक1,312
8. महानदी सिहवा 885 
9. कावेरी नदीतालकवेरी800
10. ताप्ती नदीमुलताई 724

भारत की सबसे लंबी नदी के बारे में संक्षिप्त में

1. सिन्धु नदी

सिन्धु नदी

सिंधु नदी भारत की सबसे लंबी नदियों में से एक नदी है जिसका उद्गम स्थल सिन-का-बाब है भारत में यह नदी तिब्बत और कश्मीर के मध्य बहती है | सिंधु नदी भारत की सबसे लंबी नदी होने के साथ ही पाकिस्तान की भी सबसे लंबी नदी है और वहां की राष्ट्रीय नदी भी यही है इस नदी को उत्तर भारत की 3 सबसे बड़ी नदियों में शामिल होने का गौरव प्राप्त है सिंधु नदी का जल सिंचाई के लिए जहां भी उपलब्ध है वहां पर गेहूं और कपास की खेती मुख्यतः होती है सिंधु नदी की कुल लंबाई 2900 किलोमीटर है

सिंधु की सहायक नदियाँ : इसकी मुख्यतः 8 प्रमुख सहायक नदियां हैं जो इस प्रकार हैं

ज़ांस्कर नदी, सुरु नदी, सुन नदी, झेलम नदी, चिनाब नदी, रावी नदी, ब्यास नदी, सतलज नदी, पानजनाद नदी, श्योक नदी, हुनजा नदी, गिलगित नदी, स्वात नदी, कुनार नदी, काबुल नदी, कुर्रम नदी, गोमल नदी, झोब नदी

2.ब्रह्मपुत्र नदी

ब्रह्मपुत्र नदी

ब्रह्मपुत्र नदी भारत , बांग्लादेश और तिब्बत से होकर बहती है| ब्रह्मपुत्र को दूसरे देश और राज्य में अलग-अलग नामों से जाना जाता है उदाहरण के लिए चीन में इसे यरलुंग ज़ैगंबो जियांग अथवा या-लू-त्सांग-पू चियांग कहते हैं वहीं बांग्लादेश में इससे जमुना के नाम से जाना जाता है| भारत में ज्यादातर नदियों के नाम स्त्रीलिंग में होते हैं लेकिन ब्रह्मापुत्र यही एक ऐसी नदी है जिसका नाम पुर्लिंग में है ब्रह्मपुत्र की कुल लंबाई 2900 किलोमीटर है

ब्रह्मपुत्र की सहायक नदियाँ : इसकी 11 सहायक नदियाँ हैं जो इस प्रकार हैं

दिबांग नदी, लोहित नदी, धनसिरी नदी, कोलंग नदी , कामेंग नदी, मानस नदी, बेकी नदी, रैडक नदी, जलंधा नदी, तीस्ता नदी, सुबनसिरी नदी

3. गंगा नदी

गंगा नदी

गंगा नदी की कुल लंबाई 2525 किलोमीटर है यह नदी हिंदुओं के लिए बड़ी आस्था का प्रतीक है हिंदू इस नदी को अपनी माता का दर्जा देते हैं भारत की यह सबसे पवित्र नदियों में से एक है | इस नदी में मछलियों की अनेक प्रजातियां पाई जाती है | भारत सरकार द्वारा ऐसे नवंबर 2008 में राष्ट्रीय नदी का दर्जा दिया गया है यह भारत की राष्ट्रीय नदी भी है | इस नदी के जल को अन्य नदियों के जिलों की तुलना में अधिक पवित्र माना जाता है यह भारत की प्राचीनतम नदियों में से एक है |

गंगा की सहायक नदियाँ : इसकी 8 महत्वपूर्ण सहायक नदियां है |

सोन नदी, महानंदा, महाकाली, करनाली, कोसी, गंडक, घाघरा, यमुना

4. गोदावरी नदी

गोदावरी नदी

गोदावरी नदी की कुल लंबाई 1465 किलोमीटर है यह भारत की चौथी सबसे लंबी नदी है दक्षिण भारत की यह प्रमुख नदी में से एक है | गोदावरी भारत की सबसे प्रमुख पवित्र नदियों में से एक पवित्र नदी है | गोदावरी को दक्षिण भारत की गंगा भी कहा जाता है यह भारत के कई राज्यों से बहती हुई बंगाल की खाड़ी में जाकर मिल जाती है |

गोदावरी नदी की सहायक नदियाँ : इसकी 16 सहायक नदियाँ हैं

बाणगंगा, कादवा, पूर्णा, शिवना, इंद्रावती, सबरी, तालिपेरु, नासार्दी, दरना, प्रवरा, मांजरा, मनेर, किन्नारासनी, कदम, प्राणहिता, सिंदफाना

5. कृष्णा नदी

5. कृष्णा नदी

कृष्णा नदी दक्षिण भारत की महत्वपूर्ण नदियों में से एक है | इसका उद्गम महाबलेश्वर के पश्चिम घाट श्रंखला से होता है यह स्थान भारत के महाराष्ट्र राज्य में है | कृष्णा नदी की दो सबसे बड़ी सहायक नदियाँ उत्तर में भीमा और दक्षिण में तुंगभद्रा है | इस नदी का डेल्टा बहुत बड़ा और उपजाऊ है यह महाराष्ट्र के महाबलेश्वर से बहते हुए अंत में बंगाल की खाड़ी में जाकर मिल जाती है कृष्णा नदी की कुल लंबाई 1400 किलोमीटर है |

कृष्णा नदी की सहायक नदियाँ : इसकी मुख्यत: 10 सहायक नदियाँ हैं

तुंगभद्रा, पंचगंगा, कुडाली, वेना,कोयना, दूधगंगा, मालप्रभा, घाटप्रभा, भीमा और मूसी

6. यमुना नदी

यमुना नदी

यमुना नदी भारत की सबसे बड़ी नदी में से एक गंगा की सबसे बड़ी सहायक नदी है | ठीक इसके तट पर भारत की राजधानी नई दिल्ली बसी है | भारत की सबसे पवित्र नदी गंगा नदी का जब भी नाम दिया जाता है तो यमुना नदी का भी नाम लिया जाता है यमुना नदी भी भारत की पवित्र नदियों में से एक नदी है | यमुना नदी की कुल लंबाई 1376 किलोमीटर है यह भारत की छठवीं सबसे बड़ी नदी है |

यमुना नदी की सहायक नदियाँ : इस नदी की मुख्यतः 12 सहायक नदियाँ हैं

ऋषिगंगा, हिंडन, टोंस, शारदा, गिरि, कुंता, हनुमान गंगा, चम्बल, केन, बेतवा, सिंध

7. नर्मदा नदी

नर्मदा नदी

नर्मदा नदी का उद्गम स्थल मध्य प्रदेश के मैकल पर्वत के अमरकंटक से हुआ है | अमरकंटक से बहती हुई खंभात की खाड़ी में जाकर मिल जाती है इस नदी के पानी का उपयोग मध्यप्रदेश में पीने के लिए किया जाता है | नर्मदा नदी को रेवा के नाम से भी जाना जाता है नर्मदा नदी हिंदू धर्म की पवित्र नदियों में से एक नदी है नर्मदा नदी की कुल लंबाई 1312 किलोमीटर है | यह मध्य प्रदेश की सबसे बड़ी नदी नर्मदा है

नर्मदा नदी की सहायक नदियाँ : इसकी मुख्यतः 19 सहायक नदियाँ हैं

छोटी तवा, दूधी, बरनार, बंजर, शेर, शक्कर, तवा, गंजाल, कुन्दी, देव, गोई, हिरन, तिन्दोली, कानर, मान, ऊटी, हथनी, चन्द्रकेशर, बरना

8. महानदी

महानदी

महानदी दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर बहती है इस नदी का अधिकतर भाग छत्तीसगढ़ में ही पड़ता है | इसका उद्गम सिहावा नाम के पर्वत श्रेणी से हुआ है महानदी छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी नदी है जिसकी कुल लंबाई 885 किलोमीटर है | इस नदी पर बना एक बहुत प्रमुख बांध है जिसका नाम हीराकुंड बांध है हीराकुंड बांध संसार के सबसे लंबे बांधों में से एक है इस बांध का पानी सिंचाई और विद्युत उत्पादन के काम आता है |

महानदी की सहायक नदियाँ : इसकी मुख्यतः 7 सहायक नदियाँ हैं

सोंढुर, शिवनाथ, पैरी, हसदेव, अरपा, खारून, जोंक

9. कावेरी नदी

कावेरी नदी

कावेरी नदी दक्षिण भारत की सबसे प्रसिद्ध और पवित्र नदी है इसे दक्षिण भारत की गंगा भी कहा जाता है इसका डेल्टा काफी उपजाऊ है जिस पर खेती भी काफी अच्छी होती है दक्षिण भारत में इसके जल को पिया भी जाता है अथवा पीने योग्य भी माना जाता है इस नदी की कुल लंबाई 800 किलोमीटर है |

कावेरी नदी की सहायक नदियाँ : इसकी मुख्यतः 7 प्रमुख सहायक नदियाँ हैं

अर्कावती, हेमावती, शिम्सा, काबिनी, अमरावती, भवानी, नोय्यल

10. ताप्ती नदी

ताप्ती नदी

इस नदी का उद्गम मुल्ताई नामक स्थान से हुआ है जो कि मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में पड़ता है ताप्ती नदी पूर्व दिशा से पश्चिम दिशा की ओर लगभग 724 किलोमीटर तक बहती है ताप्ती नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी पूर्णा नदी है

ताप्ती नदी की सहायक नदियाँ : इस नदी की 6 सहायक नदियाँ हैं

पूर्णा नदी, गिरना नदी, गोमई नदी, पंजारा नदी, पेधी नदी, अरना नदी

यह भी पढ़ें : TRP क्या होता है टीआरपी के बारे में पूरी जानकारी

Frequently Asked Questions

दक्षिण भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है?

दक्षिण भारत की सबसे लंबी नदी गोदावरी नदी है

भारत की सबसे चौड़ी नदी कौन सी है?

ब्रह्मपुत्र नदी भारत की सबसे चौड़ी नदी है

गंगा नदी का उद्गम स्थल कहां है?

गंगा नदी का उद्गम स्थल हिमालय के गोमुख नामक स्थान के गंगोत्री से हुआ है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.